कानपुर: यूएएन व ईपीएफ नंबर साझा न करें

पश्चिम बंगाल में साइबर गैंग की सक्रियता के बाद ईपीएफओ ने अपने 4.50 करोड़ सदस्यों के लिए अलर्ट जारी किया है। इसमें सुझाव दिया है कि किसी को भी अपना यूएएन और पीएफ खाता नंबर भूलकर भी न बताएं। आसनसोल के पुलिस कमिश्नर से मिली जानकारी के बाद ईपीएफओ ने यह अलर्ट जारी किया है।

लॉकडाउन में ईपीएफओ सदस्यों को पीएफ से आसानी से लोन आदि लेने का प्रावधान किया गया है। इसके चलते साइबर गैंग के सदस्य इन पर नजरें गड़ाए हैं। वे ईपीएफओ का अधिकारी बनकर सदस्यों को फोन करते हैं। उनसे यूएएन और पीएफ खाता नंबर पूछकर उसमें सेंध लगा रहे हैं। ईपीएफओ ने स्पष्ट किया है कि उसकी ओर से किसी को भी फोन करने का नियम ही नहीं है। ऐसी कोई भी कॉल आए तो समझ जाएं कि ठगी की कोशिश हो रही है।