बीएड प्रवेश परीक्षा 2021: आगरा में इन 224 कॉलेजों में प्रवेश पर संकट, जानें वजह

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के 224 बीएड कॉलेजों की नए सत्र में प्रवेश करने की राह मुश्किल हो गई है। विश्वविद्यालय ने इन कॉलेजों के नाम बीएड 2021 की काउंसलिंग में ना भेजने पर विचार करना शुरू कर दिया है। यदि ऐसा होता है, तो कॉलेजों में इस सत्र में कोई भी नया छात्र प्रवेश को नहीं पहुंचेगा। कॉलेजों को कमियों में सुधार के लिए नोटिस दिया गया है। यदि कॉलेज मानकों को पूरा करने के लिए गंभीर नहीं होते हैं, तो वह काउंसलिंग तक नहीं पहुंच पाएंगे।


बता दें कि विश्वविद्यालय के बीएड के 437 कॉलेज संबद्ध हैं। इन कॉलेजों में से अभी तक सिर्फ 213 के पास ही स्थायी संबद्धता है। अन्य सभी अस्थायी संबद्धता के सहारे संचालित हो रहे हैं। सबसे खास बात यह है कि 220 कॉलेजों ने संबद्धता स्थायीकरण की समय सीमा कई-कई साल पहले गुजर चुकी है। विवि से 220 कॉलेज तीन साल से अधिक समय से अस्थायी संबद्धता के सहारे चल रहे हैं। इसका मतलब साफ है कि इन कॉलेजों से औसतन दो-दो बैच पास आउट हो चुके हैं, लेकिन अभी तक यह संबद्धता लेने के लिए जरूरी मानकों तक को पूरा नहीं कर पाए हैं। ऐसे में विवि ने इन कॉलेजों को काउंसलिंग का हिस्सा ना बनाने का फैसला लिया है। हालांकि कॉलेजों को नोटिस जारी कर अंतिम मौका दिया गया है। यदि इसके बाद भी मानकों को पूरा नहीं किया जाता है, तो कॉलेज काउंसलिंग से बाहर कर दिए जाएंगे।

प्रो. आलोक कुमार राय, प्रभारी कुलपति ने बताया कि बीएड काउंसलिंग में ऐसे कॉलेजों के नाम नहीं शामिल कराए जाएंगे। जहां पर मानक पूरे नहीं होंगे। कॉलेजों को नोटिस जारी किए गए हैं। मानक पूरे करने के लिए समय दिया गया है। ऐसे कॉलेजों की संख्या 224 है।