टीजीटी में कई सॉल्वर पकड़े: छह सॉल्वरों में सीआईएसएफ का जवान भी

प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) की प्रतियोगी परीक्षा की पारदर्शिता पर जिले में ग्रहण लग गया। शुक्रवार को पहली पाली की परीक्षा में प्रश्नपत्र देरी से मिलने और पर्चा आउट करने के आरोप के साथ परीक्षार्थियों का पकड़ी भोजपुर के केन्द्र पर हंगामा किया और छह सौ अभ्यर्थियों ने परीक्षा का बहिष्कार किया। दूसरी ओर एसटीएफ ने जनपद के अलग अलग केन्द्रों से छह सॉल्वर को पकड़ा है।


किसान इंटर कालेज पकड़ी भोजपुर केन्द्र के लिए आवंटित 600 परीक्षार्थियों ने शनिवार की सुबह परीक्षा का बहिष्कार कर परिसर में धरना शुरू कर दिया। परीक्षार्थियों का आरोप था कि प्रश्नपत्र को आधा घण्टा पहले ही खोल दिया गया था और उन्हें आधा घण्टा बाद दिया गया। ऐसा नकल कराने के लिए किया गया। सुबह की पाली में हुई इस घटना के बाद मौके पर पहुंचे डीएम और एसपी ने परीक्षार्थियों को अतिरिक्त समय देने की बात कहकर परीक्षा देने की बात कही मगर परीक्षार्थियों ने उनकी नहीं सुनीं और परीक्षा देने से इनकार कर दिया। पुलिस ने हंगामा करने वाले छह लोगों का शांतिभंग में चालान किया है। हालांकि डीएम ने पर्चा आउट होने की बात से इंकार करते हुए बताया कि बहिष्कार करने वालों की परीक्षा फिर से कराने के बाबत निर्णय माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड करेगा।

छह सॉल्वरों में सीआईएसएफ का जवान भी

टीजीटी की प्रतियोगी परीक्षा में जिले में छह सॉल्वर एसटीएफ के हत्थे चढ़े हैं। इसमें एक सीआईएसएफ का जवान भी शामिल है। डीएम ने बताया कि एसटीएफ की ओर से पकड़े गए लोगों के लिए मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस मामले में जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।