बीस साल से नौकरी करने वाले शिक्षकों की सेवा पर गहराया संकट को नेता जी के सामने रखा

प्रतापगढ़ जिले के माध्यमिक विद्यालयों में तैनात तदर्थ शिक्षकों ने शनिवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव से मुलाकात कर अपनी व्यथा सुनाई। शिक्षकों ने कहा कि उन्हें भाजपा सरकार से बहुत बहुत उम्मीदें थीं, मगर विनियमितीकरण नहीं होने से सेवा सुरक्षा पर संकटग आ गया है। शिक्षक नेता प्रभात त्रिपाठी की अगुवाई में बड़ी संख्या में जुटे शिक्षकों ने प्रदेश अध्यक्ष का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि एमएलसी चुनाव के दौरान पार्टी के नियमितीकरण का आश्वासन दिया था। 

शिक्षकों ने कहा कि पूरे प्रदेश में दिन-रात मेहनत करके तदर्थ शिक्षकों ने भाजपा को चार एमएलसी दिए, मगर शिक्षकों का विनियमितीकरण नहीं होने से उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। तदर्थ शिक्षकों ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष औरवि धायक धीरज ओझा को सौंपा और विनियमितीकरण करने की मांग की है। शिक्षक नेताओं ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष ने सेवा सुरक्षा का आश्वासन दिया है। इस मौके पर रवींद्र सिंह, राकेश सिंह, सुधांशु शुक्ला, वीरेंद्र दुबे, रजनीश, सुरेश पांडेय, अरुण मिश्र, राजीव सिंह, आशुतोष पांडेय, शैलेंद्र सिंह, गौरव पांडेय, जगन्नाथ यादव प्रमुख रूप से मौजूद रहे।